भारतीय मूल की ब्रिटेन की गृह मंत्री सुएला ब्रेवरमैन ने, भारतीय प्रवासियों के लिए कही ये बड़ी बात

भारतीय मूल की ब्रिटेन की गृह मंत्री सुएला ब्रेवरमैन ने बुधवार को भारतीय प्रवासियों के कारण ब्रिटेन आज समृद्ध है। इससे पहले सुएला ब्रेवरमैन ने इस डील का विरोध करते हुए कहा था कि इस डील के बाद ब्रिटेन में भारतीयों की भीड़ बढ़ जाएगी। भारत ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई थी।

भारत और ब्रिटेन के बीच होने वाले मुक्त व्यापार समझौता को लेकर ब्रिटेन की गृह मंत्री सुएला ब्रेवरमैन ने अपना सुर बदलते हुए कहा कि भारतीय प्रवासियों के कारण ही आज ब्रिटेन काफी समृद्ध है। ब्रिटेन अब व्यापार या वीजा के मामले में यूरोप केंद्रित मानसिकता नहीं रखता है। ब्रेवरमैन ने कहा कि दोनों देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए ब्रिटेन इस व्यापार समझौते को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए उत्सुक है। इससे पहले उन्होंने भारत-ब्रिटेन के बीच ट्रेड डील का विरोध करते हुए कहा था कि इससे वीजा की अवधि से ज्यादा रहने वाले भारतीयों की भीड़ और बढ़ जाएगी।

ब्रिटिश भारतीय होना गौरव की बात

ब्रेवरमैन ने मंगलवार को लंदन स्थित इंडिया ग्लोबल फोरम में आयोजित एक दिवाली कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि ब्रिटिश भारतीय समुदाय का सदस्य होना मेरे लिए गौरव की बात है। भारतीय प्रवासियों द्वारा ब्रिटेन में किए योगदान की सराहना करते हुए ब्रेवरमैन ने कहा कि ब्रिटेन के गांव, कस्बों और शहरों को भारतीय प्रवासियों ने संवारा है।

ब्रिटेन डील को लेकर उत्सुक

ब्रेवरमैन ने कहा कि ब्रिटेन दोनों देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए इस व्यापार समझौते को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए उत्सुक है। लेकिन सिर्फ अर्थव्यवस्था को मजबूत करना ही हमारा एकमात्र लक्ष्य नहीं है। हमारा एक साझा लक्ष्य यह है कि 2030 तक हम इस साझेदारी को मजबूत करते हुए सुरक्षा मामलों पर सहयोग देना। यह घरेलू स्तर के -साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खासकर इंडो-पैसिफिक के लिए काफी महत्वपूर्ण है।

ट्रस इस डील को लेकर प्रतिबद्ध

गृह मंत्री ने कहा कि लिज ट्रस के नेतृत्व वाली सरकार भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के द्वारा शुरू की गई डील को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है। आपको बता दें कि भारत और ब्रिटेन ने जनवरी में इस मुक्त व्यापार समझौते के लिए बातचीत शुरू की थी। अप्रैल में भारत दौरे पर आए ब्रिटेन के तत्कालीन प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इस डील को हरी झंडी दी थी।

भारत विरासत का हिस्साः ब्रेवरमैन

गृह मंत्री ब्रेवरमैन ने भारत-ब्रिटेन रिश्ते को केरल से बिहार और दिल्ली से कलकत्ता की यात्रा के साथ जोड़ते हुए कहा कि भारत और ब्रिटेन का रिश्ता हमेशा ताजा और जीवंत रहने वाला है। उन्होंने कहा कि भारत मेरे दिल में है, वह मेरी आत्मा है, वह मेरे खून में है। मुझे गर्व है कि मेरे पिता के पूर्वज और उनका परिवार गोवा में है और मेरी मां का संबंध मद्रास से है। ब्रेवरमैन ने कहा कि भारत उनकी विरासत का हिस्सा है, मैं अपने परिवार के दोनों तरफ से भारतीय हूं।

क्या कहा था ब्रेवरमैन ने

भारतीय मूल की ब्रिटिश गृह मंत्री सुएला ब्रेवरमैन ने मुक्त व्यापार समझौते का विरोध करते हुए कहा था कि इससे ब्रिटेन में भारतीय प्रवासियों की भीड़ बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा था कि कई भारतीय प्रवासी वीजा की अवधि समाप्त हो जाने के बाद भी ब्रिटेन में ही रहते हैं। उन्होंने कहा था कि ब्रिटिश लोगों ने ब्रेग्जिट से हटने के लिए इसलिए वोट नहीं दिया था कि भारतीयों के लिए ब्रिटेन की सीमा इस तरह से खोल दिया जाए। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्हें ब्रिटिश साम्राज्य पर गर्व है और वह उसकी संतान हैं।

क्या है मुक्त व्यापार समझौता

इस डील की मदद से ब्रिटेन की प्रधानमंत्री लीज ट्रस ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में जान फूंकना चाहती हैं, वहीं भारत इस डील से अपने कामगारों और पढ़ने जाने वाले छात्रों के लिए वीजा में रियायत की मांग कर रहा है। इस डील की मदद से 2030 तक दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार दोगुना होने की उम्मीद है।

Disclaimer :इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि newsnineharyana.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है और इसे मनोरंजन के लिए तैयार किया गया है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन या इंटरनेट पर रीसर्च ज़रूर कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। newsnineharyana.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Show Full Article
Next Story
Share it