यूक्रेन के खारकीव पर ‘पागलों की तरह’ बम बरसा रहा रूस, शहर के महापौर का दावा

यूक्रेन के खारकीव पर ‘पागलों की तरह’ बम बरसा रहा रूस, शहर के महापौर का दावा


कीव. यूक्रेन पर रूस के हमले (Russia Attack on Ukraine) को 56 दिन हो चुके हैं. लेकिन अब तक रूस जैसे शक्तिशाली देश को पड़ोस के छोटे से देश पर मुकम्मल जीत हासिल नहीं हो सकी है. संभव है, इसीलिए अब रूसी सेना (Russian Army) में बौखलाहट भी बढ़ रही हो. कम से कम यूक्रेन के खारकीव शहर (Kharkiv City Ukraine) के महापौर के बयान से तो यही लगता है. इसमें उन्होंने कहा है कि रूस उनके शहर पर ‘पागलों की तरह’ बमों की बारिश कर रहा है.

खारकीव के महापौर इहोर तेरेखोव ने गुरुवार, 21 अप्रैल को टेलीविजन पर अपना संदेश जारी किया. इसमें उन्होंने कहा, ‘पूरे शहर में हमें सिर्फ, बम धमाकों की आवाजें सुनाई दे रही हैं. रूस पागलों की तरह बमबारी कर रहा है. हालांकि शहर की लगभग 30% आबादी को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है. इनमें अधिकांश महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग हैं. इसके बाद भी अब तक यहां लगभग 10 लाख लोग बचे हुए हैं.’ गौरतलब है कि इससे पहले खबर आई थी कि बुधवार, 20 अप्रैल को रूसी सेना ने एक ही दिन में यूक्रेन पर 1,100 हमले किए हैं. यह भी पता चला था कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन (Russian President Vladimir Putin) ने यूक्रेन के डोनबास में भाड़े के 20 हजार सैनिक तैनात किए हैं. सीरिया, लीबिया और जॉर्जिया से इन भाड़े के सैनिकों को लाया गया है.

वहीं, रूस का दावा है कि उसकी सेना ने यूक्रेन के सबसे बड़े बंदरगाह शहर मारियुपोल पर भी कब्जा कर लिया है. रूसी रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, ‘सिर्फ अज़ोवस्टल प्लांट को छोड़कर पूरे मारियुपोल पर रूसी सेना का कब्जा हो चुका है.’ रूसी सेना ने मारियुपोल में तैनात यूक्रेनी सेना (Ukraine Army) के जवानों से यह भी कहा था कि अगर वे हथियार डाल देते हैं, तो उन्हें जीवित रहने की गारंटी दी जाएगी. लेकिन यूक्रेन ने एक बार फिर हथियार डालने से इंकार कर दिया है. उसने मारियुपोल पर कब्जे के रूस के दावे को भी नहीं माना है. उसका कहना है कि जंग जारी है. जारी रहेगी.

Show Full Article
Next Story
Share it