Qatar vs Ecaudor: कतर बरकरार रखेगा फीफा वर्ल्ड कप का इतिहास या इक्वाडोर दिखाएगा कमाल

Qatar vs Ecaudor: कतर और इक्वाडोर के बीच अल बायत स्टेडियम में फीफा वर्ल्ड कप-2022 का पहला मुकाबला आज यानी रविवार 20 नवंबर को खेला जाएगा. इस मुकाबले पर सभी की नजरें रहेंगी क्योंकि इससे एक इतिहास जुड़ा है.

FIFA World Cup 2022: फीफा वर्ल्ड कप के 22वें एडिशन का आगाज आज यानी 20 नवंबर 2022 से हो रहा है. इसके साथ ही मिडिल- ईस्ट में पहली बार वैश्विक फुटबॉल टूर्नामेंट की मेजबानी का लंबा इंतजार भी खत्म हो गया. टूर्नामेंट के पहले मुकाबले में मेजबान कतर के सामने इक्वाडोर की कड़ी चुनौती होगी. अल खोर के अल बायत स्टेडियम में होने वाले इस मुकाबले से इतिहास भी जुड़ा है. देखना दिलचस्प होगा कि क्या कतर उसे बरकरार रख पाएगा या इक्वाडोर इसमें कोई फेरबदल करने में कामयाब होगा.

कतर ने इस टूर्नामेंट के लिए काफी तैयारियां की हैं और पानी की तरह पैसा बहाया. आयोजन में किसी तरह की कमी ना रहे, इसके लिए तेजी से काम किया गया. कतर इसी के साथ जीत से आगाज भी करना चाहेगा. दरअसल, फीफा विश्व कप का पहला मैच कोई भी मेजबान टीम नहीं हारी है. ऐसे में कतर भी इस रिकॉर्ड को बरकरार रखना चाहेगा. हालांकि इक्वाडोर को हल्के में लेने की गलती मेजबान टीम के खिलाड़ी नहीं करेंगे.

अल्फारो से उम्मीदें

इक्वाडोर टीम से उसके फैंस को काफी उम्मीदें हैं, जिसके मैनेजर गुस्तावो अल्फारो हैं. अगस्त-2020 में जोर्डी क्रूफ को इक्वाडोर के मैनेजर के रूप में बदले जाने के बाद अल्फारो ने यह जिम्मेदारी संभाली. वर्ल्ड कप क्वालीफाइंग अभियान ने इक्वाडोर को दक्षिण अमेरिकी समूह में ब्राजील, अर्जेंटीना और उरुग्वे से पीछे जबकि चिली, पेरू और पैराग्वे की क्षमता की टीमों से ऊपर चौथे स्थान पर रखा. अल्फारो के मार्गदर्शन में खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. अपने पिछले सात मैचों में टीम कोई नहीं हारी. इस दौरान नाइजीरिया और केप वर्डे पर जीत हासिल की, साथ ही अर्जेंटीना, मैक्सिको और जापान के खिलाफ ड्रॉ खेला.

जबर्दस्त है इक्वाडोर का डिफेंस

इक्वाडोर का डिफेंस टूर्नामेंट की सभी टीमों में सबसे ठोस और मजबूत होने का दावा करता है. इक्वाडोर ने 18 क्वालिफायर में सिर्फ 19 गोल खाए और अपने पिछले पांच मैचों में से हर मुकाबले में शीट-क्लीन रखी है. हालांकि अटैक उनकी चिंता है. इक्वाडोर के पिछले पांच मुकाबलों में केवल एक गोल हुआ है जिसने टीम की अटैकिंग-अप्रोच पर सवालिया निशान खड़े किए हैं.

Show Full Article
Next Story
Share it