32 साल की उम्र में ही तबाह हो गया इस खिलाड़ी का करियर, अकेले दम पर जिताता था मैच

32 साल की उम्र में ही तबाह हो गया इस खिलाड़ी का करियर, अकेले दम पर जिताता था मैच


नई दिल्ली: रोहित शर्मा को हाल ही में टीम इंडिया का नया कप्तान बनाया गया है. रोहित ने कई युवा खिलाड़ियों को टीम में वापस बुलाया है. वहीं कई दिग्गज खिलाड़ी टीम से बाहर हो चुके हैं. लेकिन एक खिलाड़ी ऐसा है जो एक समय पर भारतीय टीम का सबसे बड़ा मैच विनर माना जाता था. लेकिन वो अब अपना करियर बचाने में भी नाकाम है. अब ये खिलाड़ी आईपीएल के जरिए टीम में वापसी करने की आखिरी कोशिश करेगा.

खत्म हुआ इस खिलाड़ी का करियर?

मनीष पांडे ने टीम इंडिया (Team India) के लिए अब तक 39 टी-20 इंटरनेशनल मुकाबले खेले हैं, जिसमें उन्होंने की 44.31 औसत और 126.15 की स्ट्राइक रेट से 709 रन बनाए. मनीष पांडे कभी कंसिसेटेंट नहीं रहे और यही वजह है कि उनका टीम इंडिया (Team India) में आना और जाना लगा रहा. अब लगता नहीं कि वो कभी वापसी कर पाएंगे. आईपीएल 2021 में भी मनीष पांडे सनराइजर्स हैदराबाद की टीम के लिए कमजोर कड़ी साबित हुए थे.

टीम इंडिया में वापसी लगभग नामुमकिन

मनीष पांडे की फ्लॉप बल्लेबाजी के कारण पूरा मिडिल ऑर्डर तहस-नहस हो जाता है, जिस वजह से टीम को भारी नुकसान उठाना पड़ता है. इस खिलाड़ी को एक वक्त पर टीम इंडिया का भविष्य माना जाता था, लेकिन इनका बल्ला ज्यादातर शांत रहा. मनीष पांडे ने टीम इंडिया के लिए शानदार डेब्यू किया था. उन्होंने साल 2015 में जिंबाब्वे के खिलाफ 86 गेंदों पर 71 रन बनाए थे. इसके बाद अगले ही साल उन्होंने सिडनी में 81 गेंदों पर 104 रन बनाए और टीम की जीत पक्की की. लेकिन इसके बाद वो टीम इंडिया से लगातार अंदर बाहर होते रहे. इंजरी ने भी उनसे कई बड़े मौके छीने. शानदार शुरुआत को वो बड़े करियर में तब्दील नहीं कर सके.

लखनऊ सुपरजायंट्स ने खरीदकर लिया बड़ा रिस्क

मनीष पांडे को इस बार IPL की नीलामी में लखनऊ सुपरजायंट्स ने 4.6 करोड़ रुपये में खरीदा है. मनीष पांडे को अपनी टीम में शामिल करना लखनऊ सुपरजायंट्स के लिए बड़ा रिस्क साबित हो सकता है. मनीष पांडे को इस बार मेगा ऑक्शन में सनराइजर्स हैदराबाद ने ठुकरा दिया था, क्योंकि पिछले सीजन मनीष पांडे ने अपने नाम के अनुरूप प्रदर्शन नहीं किया. उनके प्रदर्शन में निरंतर गिरावट आई. मनीष पांडे SRH के लिए बहुत अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए थे. उन्होंने एक भी मैच जिताऊ पारी नहीं खेली थी. पिछले कुछ सीजन में वो रनों के लिए जूझते दिखाई दिए. उनके खराब प्रदर्शन को देखते हुए SRH उन्हें रिटेन नहीं किया था.

IPL में शतक लगाने वाले पहले भारतीय

पहले कोलकाता नाइट राइडर्स और फिर सनराइजर्स हैदराबाद के लिए ढेरों रन बनाने वाले मनीष पांडे ने अपने आईपीएल करियर की शुरूआत रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के साथ की थी. 2009 में वह आईपीएल में शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने थे. उन्होंने डेक्कन चार्जर्स हैदराबाद के खिलाफ सिर्फ 73 गेंदो में नाबाद 114 रनों की पारी खेली थी. इस दौरान उनके बल्ले से 10 चौके और चार छक्के निकले थे. तब अनिल कुंबले आरसीबी के कप्तान थे.

Show Full Article
Next Story
Share it