On this Day: सचिन तेंदुलकर ने वनडे में मील का पत्थर रखा, 15 साल से नहीं टूटा रिकॉर्ड

सचिन के नाम 463 वनडे मैचों में 18,426 रन हैं. इस दौरान उनका औसत 44.83 रहा. वहीं नाबाद 200 रन उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर है. सचिन ने अपने वनडे करियर में 49 शतक और 96 अर्धशतक लगाए हैं. साल 2012 में सचिन इंटरनेशनल क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से रिटायर हो गए थे.


नई दिल्ली. आज से ठीक 15 साल पहले साल 2007 में क्रिकेट जगत में ऐसा रिकॉर्ड बना था जिसे इतने सालों में अभी तक कोई बल्लेबाज तोड़ नहीं सका है. क्रिकेट का भगवान कहे जाने वाले भारत के पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने आज ही के दिन एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 15,000 रनों का आंकड़ा पार किया था. सचिन ने 29 जून 2007 को साउथ अफ्रीका के खिलाफ यह मील का पत्थर छुआ था. इस जादुई आंकड़े को छूने वाले सचिन दुनिया के इकलौते खिलाड़ी हैं और सचिन का यह रिकॉर्ड फिलहाल टूटता हुआ नजर नहीं आ रहा है.

एकदिवसीय मैचों में 18,000 से ज्यादा रन
सचिन तेंदुलकर ने अपने 23 साल लंबे करियर में कई उपलब्धियां हासिल की. उन्हीं में से एक है वनडे मैचों में सबसे ज्यादा रन का रिकॉर्ड. सचिन के नाम 463 वनडे मैचों में 18,426 रन हैं. इस दौरान उनका औसत 44.83 रहा. वहीं नाबाद 200 रन उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर है. सचिन ने अपने वनडे करियर में 49 शतक और 96 अर्धशतक लगाए हैं. साल 2012 में सचिन इंटरनेशनल क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से रिटायर हो गए थे.

15,000 रनों का आंकड़ा छूने से चूके संगाकारा
सचिन के बाद श्रीलंका के दिग्गज खिलाड़ी कुमार संगाकारा 15,000 रनों का आंकड़ा छूने के बेहद करीब थे. साल 2015 में रिटायर होने से पहले संगाकारा ने 404 वनडे मैचों में 14,234 रन बनाए जिसमें 25 शतक और 93 अर्धशतक शामिल हैं. संगाकारा का वनडे में औसत 41.99 है.

15,000 रनों के करीब कोहली
मौजूदा खिलाड़ियों में विराट कोहली वनडे में 15,000 रनों के सबसे करीब हैं. उन्होंने 260 वनडे मैचों में अभी तक 12,311 रन बनाए हैं यानी वह 15,000 का आंकड़ा छूने से 2689 रन दूर हैं. एक समय ऐसा माना जा रहा था कि कोहली इस रिकॉर्ड को आसानी से तोड़ सकते हैं पर बीते कुछ सालों से कोहली की फॉर्म खास नहीं रही. फॉर्म में वापसी के बाद कोहली आने वाले कुछ सालों में 15,000 रनों का आंकड़ा पार कर सकते हैं.

Show Full Article
Next Story
Share it