ओलंपिक संघ ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के भारतीय दल का किया ऐलान

भारत गोल्ड कोस्ट में हुए पिछले राष्ट्रमंडल खेलों की तालिका में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बाद तीसरे स्थान पर रहा था और टीम की कोशिश इस बार अपने प्रदर्शन में सुधार करने की होगी. 


नई दिल्ली: भारतीय ओलंपिक संघ ने शनिवार को आगामी बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों के लिए 215 खिलाड़ियों के साथ 322 सदस्यों के दल की घोषणा की. दल में 107 अधिकारी एवं सहायक कर्मचारी है.

2018 में तीसरे स्थान पर रहा था भारत

इन खेलों का आयोजन 28 जुलाई से आठ अगस्त तक इंग्लैंड के शहर में होगा. भारत गोल्ड कोस्ट में हुए पिछले राष्ट्रमंडल खेलों की तालिका में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बाद तीसरे स्थान पर रहा था और टीम की कोशिश इस बार अपने प्रदर्शन में सुधार करने की होगी.

इस मौके पर आईओए महासचिव राजीव मेहता ने कहा कि हम अपना सबसे मजबूत दल राष्ट्रमंडल खेलों में भेज रहे हैं. हम निशानेबाजी में काफी मजबूत रहे है लेकिन वह इस बार इन खेलों का हिस्सा नहीं है. इसके बावजूद हम पिछले सत्र के मुकाबले इस बार बेहतर प्रदर्शन करने को लेकर आश्वस्त हैं. यहां जारी विज्ञप्ति में इस खेल निकाय के शीर्ष पदाधिकारी ने एथलीटों और महासंघों को समर्थन देने के लिए सरकार को धन्यवाद दिया.

ओलंपिक मेडल विजेता भी लेंगे कॉमनवेल्थ में हिस्सा

मेहता ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत सरकार ने खेलों को अभूतपूर्व समर्थन दिया है और ओलंपिक खेलों में हमारा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन इस बात की तस्दीक करता है.’’ टीम में कुछ प्रमुख नामों में ओलंपिक पदक विजेता नीरज चोपड़ा, पीवी सिंधू, मीराबाई चानू, लवलीना बोरगोहेन, बजरंग पूनिया और रवि कुमार दहिया शामिल हैं.
इसके अलावा मौजूदा राष्ट्रमंडल चैंपियन मनिका बत्रा, विनेश फोगाट के साथ-साथ 2018 एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता तजिंदरपाल सिंह तूर, हिमा दास और अमित पंघाल भी दल का हिस्सा हैं. तूर ने हालांकि शनिवार को ही चोट के कारण इन खेलों से हटने की घोषणा की. तूर अमेरिका के यूजीन में चल रही विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप से पहले लगी ‘ग्रोइन’ चोट के कारण राष्ट्रमंडल खेलों से बाहर हो गये.

महिला क्रिकेट भी कॉमनवेल्थ गेम्स में शामिल

भारतीय मुक्केबाजी संघ (बीएफआई) के उपाध्यक्ष राजेश भंडारी टीम के ‘शेफ डी मिशन’ (दल प्रमुख) हैं. भारतीय खिलाड़ी 15 खेलों और चार पैरा खेलों में प्रतिस्पर्धा करेंगे. टीम को मुक्केबाजी, बैडमिंटन, हॉकी, भारोत्तोलन, महिला क्रिकेट और कुश्ती जैसे पारंपरिक रूप से मजबूत खेल में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है.

महिला क्रिकेट (टी20 प्रारूप) पहली बार इन खेलों का हिस्सा बना है. कुछ भारतीय खिलाड़ी पहले ही बर्मिंघम पहुंच चुके है जबकि कुछ वैश्विक टूर्नामेंटों में भाग लेने के बाद सीधे वहां पहुंचेंगे. बाकी बचे हुए खिलाड़ी नयी दिल्ली से रवाना होंगे. राष्ट्रमंडल खेल गांव आधिकारिक रूप से 23 जुलाई को दल के लिए खुलेगा. भारतीय दल पांच अलग-अलग जगहों पर रहेगा.

Show Full Article
Next Story
Share it