Natwest Trophy: 'दादा' के 2002 में शर्ट उतारने का किस्‍सा है फेमस, सचिन तेंदुलकर ने शेयर की राज की दूसरी बड़ी बात

Natwest Trophy 2002: टीम इंडिया को नेटवेस्ट ट्रॉफी का फाइनल जीते 20 साल पूरे हो गए हैं. इस खास मौके पर तेंदुलकर ने एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें उन्होंने कई बड़े खुलासे किए हैं. 


Natwest Trophy 2002 Final: 13 जुलाई 2002 का दिन भारतीय क्रिकेट फैंस के दिलों दमाग में एकदम बसा हुआ है. इस दिन टीम इंडिया ने नेटवेस्ट ट्रॉफी (NatWest Final) के फाइनल में इंग्लैंड को उन्हीं की धरती पर हराया था. ये मैच जीत के साथ-साथ कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) द्वारा लार्ड्स की बालकनी में टी-शर्ट लहराने के लिए भी याद किया जाता है. इस जीत को याद करते हुए सचिन तेंदुलकर ने एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें उन्होंने कई बड़े खुलासे किए हैं, जिनके बाद में बहुत कम लोग जानते हैं.

326 रन का टारगेट किया था चेज

नेटवेस्ट ट्रॉफी एक त्रिकोणीय सीरीज थी. इसमें मेजबान इंग्लैंड के अलावा भारत और श्रीलंका ने इसमें हिस्सा लिया था. फानइल मैच में इंग्लैंड ने भारत के सामने इस टूर्नामेंट को जीतने के लिए 326 रनों का टारगेट रखा था. टारगेट के जवाब में भारत 146 रन पर ही 5 विकेट गंवा दिए थे. इसके बाद युवराज सिंह (69 रन) और मोहम्मद कैफ (87 रन) ने छठे विकेट की साझेदारी में 121 रन जोड़कर टीम इंडिया को ये ऐतिहासिक मुकाबला 2 विकेट से जिताया था.

तेंदुलकर ने शेयर किया ये खास किस्सा

सचिन तेंदुलकर ने इस मैच को याद करते हुए कहा, 'दादा ने अपनी जर्सी उतार दी, जो सभी जानते हैं. लेकिन एक और कहानी है जिसके बारे में कोई नहीं जानता. मैच के बाद युवराज और मोहम्मद कैफ मुझसे मिलने आए. उन्होंने कहा, पाजी, हमारा प्रदर्शन अच्छा था, लेकिन अगर हमें इससे भी बेहतर कुछ करना है, तो हमें क्या करना चाहिए? मैंने कहा आपने अभी-अभी हमारे लिए टूर्नामेंट जीता है! आप और क्या करना चाहते हैं? बस ऐसा ही करते रहो और भारतीय क्रिकेट ठीक रहेगा.'

सचिन नहीं खेल सके थे बड़ी पारी

भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर इस बड़े रन चेज में 14 रन बनाकर ही आउट हो गए थे. सचिन तेंदुलकर ने मशहूर फाइनल को याद करते हुए अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो पोस्ट किया. इस वीडियो में तेंदुलकर ने ड्रेसिंग रूम के माहौल के बारे में भी बात की और खुलासा किया कि उन्होंने टीम के हर एक खिलाड़ी को अपनी जगह से नहीं हटने के लिए कहा था.

Show Full Article
Next Story
Share it