Mumbai Indians: खेमों में बंटी हुई है मुंबई की टीम, इस दिग्गज ने रोहित ब्रिगेड पर खड़े किए सवाल

Mumbai Indians: मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) को गुरुवार को चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के खिलाफ तीन विकेट से शिकस्त झेलनी पड़ी जो इस सीजन में उसकी लगातार सातवीं हार है. आईपीएल के इतिहास में यह पहली बार है जब मुंबई इंडियंस टीम अपने शुरुआती सातों मैच हारी हो.


Mumbai Indians: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में खराब दौर से गुजर रही मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के पूर्व बल्लेबाज क्रिस लिन (Chris Lynn) ने कहा कि मौजूदा सीजन में यह ‘11 खिलाड़ियों की टीम’ की जगह मैदान पर ‘11 अलग-अलग लोग’ दिख रहे हैं.

शुरुआती सातों मैच हार गई मुंबई

मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) को गुरुवार को चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के खिलाफ तीन विकेट से शिकस्त झेलनी पड़ी जो इस सीजन में उसकी लगातार सातवीं हार है. आईपीएल के इतिहास में यह पहली बार है जब मुंबई इंडियंस टीम अपने शुरुआती सातों मैच हारी हो.

इस दिग्गज ने रोहित ब्रिगेड पर खड़े किए सवाल

मुंबई की टीम का 2020 और 2021 में हिस्सा रहे क्रिस लिन ने कहा, ‘जीतना और हारना आदत है. मुंबई की टीम में बल्लेबाजी, गेंदबाजी, फील्डिंग और मानसिक तौर पर समस्या है. ऐसा लगता है टीम गुटों में बंटी हुई है.’ इस 32 साल के ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने कहा कि मुंबई के सीनियर खिलाड़ी दबाव की स्थिति में कप्तान का साथ नहीं दे रहे हैं. जब वह इस टीम का हिस्सा थे तो ऐसा नहीं होता था.

'खेमों में बंटी हुई है मुंबई की टीम'

मुंबई के लिए एक मैच खेलने वाले लिन ने कहा, ‘जब आप प्वाइंट्स टेबल में बिल्कुल नीचे होते हो तो कप्तान की ही तरह कीरोन पोलार्ड भी आमतौर पर डीप मिड ऑन या मिड ऑफ से मदद करने आपको शांत करने आते हैं.’ लिन ने कहा, ‘हमने मुंबई के साथ यह अभी तक नहीं देखा, क्योंकि वे अब छोटे गुटों में बंटना शुरू हो गए हैं और यह एक अच्छा संकेत नहीं है. मुझे लगता है कि ड्रेसिंग रूम में भी माहौल अच्छा नहीं होगा.

मैदान पर उतर रहे हैं 11 अलग-अलग खिलाड़ी

लिन ने कहा, ‘जब वे दो साल पहले टूर्नामेंट जीते थे, तब की तुलना में अब चीजें बिल्कुल उल्टा है. तब वे हमेशा बात करते रहते थे कि हम कैसे बेहतर हो सकते हैं. यह सभी छोटी बातचीत कोचिंग सदस्यों के बिना होती थी, क्योंकि वे सभी जीतना चाहते थे. तो हम इस बार ऐसा कुछ नहीं देख रहे हैं, हम बिल्कुल इसका उलट देख रहे हैं. ऐसा लगता है कि यह 11 खिलाड़ियों की एक टीम नहीं बल्कि 11 अलग-अलग खिलाड़ी मैदान पर उतर रहे हैं.’

Show Full Article
Next Story
Share it