IND vs ENG: रोहित शर्मा टेस्ट मैच से बाहर, नए कप्तान के लिए 5 चुनौतियों से पार पाना आसान नहीं

India vs England Test: भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट मैच 1 जुलाई में बर्मिंघम में खेला जाना है. कप्तान रोहित शर्मा इस मैच में नहीं खेल सकेंगे. ऐसे में तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को टीम की कमान दी जा सकती है.


लंदन. टीम इंडिया (Team India) को इंग्लैंड के खिलाफ 1 जुलाई से होने वाले टेस्ट से पहले बड़ा झटका लगा है. कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) कोरोना के कारण मैच से बाहर हो गए हैं. ऐसे में उनकी जगह जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) को नया कप्तान बनाया जा सकता है. रोहित के बाहर होने के बाद नए कप्तान और टीम मैनेजमेंट के सामने बड़ी मुश्किल खड़ी हो गई है. ओपनर बल्लेबाज केएल राहुल पहले ही चोट के कारण बाहर हो चुके हैं. यह टेस्ट पिछले साल काेराेना के कारण नहीं खेला जा सका था. भारतीय टीम सीरीज में 2-1 से आगे है. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) में 60 फीसदी अंक तक पहुंचने के लिए भारत को यह मैच जीतना जरूरी है. रोहित की अनुपस्थिति में इन 5 चुनौतियों से टीम को पार पाना होगा.

पहला: कौन करेगा ओपनिंग?

रोहित शर्मा ने पिछले साल इंग्लैंड के खिलाफ 4 टेस्ट में सबसे अधिक 368 रन बनाए थे. एक शतक भी लगाया था. वहीं केएल राहुल ने 315 रन बनाए थे. इन दोनों के अलावा अन्य कोई बल्लेबाज 300 रन का आंकड़ा नहीं छू सका था. अब जबकि दोनों टीम में नहीं हैं. ऐसे में शुभगन गिल का बतौर ओपनर खेलना तय है. उन्होंने लीस्टरशायर के खिलाफ अभ्यास मैच में अर्धशतक भी लगाया है. केएस भरत ने भी अभ्यास मैच में ओपनिंग की थी. हनुमा विहारी भी टेस्ट में ओपनिंग कर चुके हैं. दूसरी ओर मयंक अग्रवाल भी इंग्लैंड पहुंच चुके हैं. ऐसे में इन 3 में से किसे गिल के साथ मौका मिलता है, यह देखने वाली बाती होगी.

दूसरा: नंबर-3 पर पुजारा या हनुमा?

चेतेश्वर पुजारा को खराब फॉर्म के बाद टेस्ट टीम से बाहर कर दिया था. लेकिन काउंटी चैंपियनशिप में दोहरा शतक लगाकर उन्होंने फॉर्म हासिल किया और फिर से टीम में जगह बनाई. हालांकि वे अभ्यास मैच में शून्य और 22 रन ही बना सके. वहीं हनुमा विहारी ने अभ्यास मैच में 3, 20 और 23 रन बनाए. पिछले साल इंग्लैंड में पुजारा सबसे अधिक रन बनाने के मामले में तीसरे नंबर पर थे. ऐसे में उनका दावा अधिक पुख्ता दिखता है.

तीसरा: श्रेयस को मौका मिलेगा या नहीं?

श्रेयस अय्यर ने टेस्ट क्रिकेट में शानदार तरीके से डेब्यू किया. लेकिन क्या इंग्लैंड में उन्हें प्लेइंग-11 में मौका मिलेगा. नंबर-5 पर उनमें और विहारी दोनों में लड़ाई रहेगी. विहारी स्पिन गेंदबाजी भी कर लेते हैं. ऐसे में अगर टीम 4 तेज गेंदबाजों के साथ उतरती है, तो विहारी का पलड़ा भारी रहेगा.

चौथा: रवींद्र जडेजा या आर अश्विन?

ऑफ स्पिनर आर अश्विन टेस्ट में भारत की ओर सबसे अधिक विकेट लेने के मामले में दूसरे नंबर पर हैं. लेकिन पिछले साल उन्हें इंग्लैंड में सीरीज के चारों मैच में मौका नहीं मिला था. उनकी जगह चौथे तेज गेंदबाज के तौर पर शार्दुल ठाकुर को मौका दिया गया. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में रवींद्र जडेजा और आर अश्विन दोनों खेले थे. लेकिन प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था. अभ्यास मैच की दूसरी पारी में अश्विन ने 2 विकेट लिए थे. ऐसे में क्या उन्हें मौका मिलेगा, यह देखने वाली बात होगी. वैसे रवींद्र जडेजा का खेलना तय माना जा रहा है.

पांचवां: तीसरा तेज गेंदबाज कौन?

टेस्ट में तेज गेंदबाज के तौर पर जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी का खेलना तय है. तीसरे तेज गेंदबाज के तौर पर उमेश यादव या मोहम्मद सिराज में से किसे मौका मिलता है, यह देखना दिलचस्प होगा. सिराज ने पिछले साल 4 टेस्ट में 14 विकेट लिए थे. वे बुमराह के बाद सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज थे. वहीं उमेश को सिर्फ एक मैच में मौका मिला था और उन्होंने 6 विकेट अपने नाम किए थे. ऐसे में सिराज प्लेइंग-11 में जगह बना सकते हैं.

Show Full Article
Next Story
Share it