PM Kusum Yojana: महाराष्ट्र के कुछ जिलों में महाउर्जा के स्वतंत्र पोर्टल पर पंजीकरण शुरू, ऐसे करें अप्लाई

कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया बेहद आसान है. किसान कुसुम योजना के लिए दिए गए निर्देशों के माध्यम से आसानी से आवेदन कर सकते हैं.


पीएम कुसुम योजना (PM Kusum Yojana) का लाभ उठाने के लिए अमरावती संभाग के पांचों जिले में 10 हजार 839 लाभार्थियों ने रजिस्ट्रेशन किया है. इन लाभार्थियों को योजना का पूरा लाभ मिल सके, इसके लिए 4 हजार 975 लाभार्थियों को लाभार्थी पंजीयन करने के लिए एसएमएस भेजे गए हैं.

बचे हुए लोगों की अर्जी प्रक्रिया तेजी से शुरू की जा चुकी है. महाउर्जा विभाग के अधिकारियों ने इसकी जानकारी देते हुए कहा है कि- जल्द से जल्द इस प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा.

इस योजना के लिए केंद्र सरकार का 30 प्रतिशत आर्थिक सहयोग किसानों को मिलेगा. सर्व साधारण प्रवर्ग के लाभार्थियों का हिस्सा 10 प्रतिशत व अनुसूचित जाति जनजाति के अंतर्गत आने वाले लाभार्थियों का हिस्सा 5 प्रतिशत है. शेष 60 से 65 प्रतिशत हिस्सा राज्य सरकार द्वारा दिया जाएगा. इस योजना का लाभ लेने के लिए महाऊर्जा के स्वतंत्र ऑनलाइन पोर्टल पर आवेदन कर सकते हैं.

क्या है पीएम कुसुम योजना (What is PM Kusum Yojana)

सरकार की ओर से किसानों को अपने खेत में सोलर पंप लगवाने के कुसुम योजना चलाई जा रही है. इस योजना के तहत किसानों को अपने खेत में सोलर पंप लगवाने के लिए सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जाता है ताकि उन्हें सस्ती कीमत पर सोलर पंप उपलब्ध हो सकें. सोलर पंप लगाने का काम कई राज्यों में किया जा रहा है. इसी के तहत महाराष्ट्र के अमरावती जिले से आवेदन की मांग की जा रही है.

इससे किसानों को दो तरह से फायदा हो रहा है. एक तो किसानों को सिंचाई के लिए 24 घंटे बिजली मिल रही है, जिससे बिजली का खर्च कम हो रहा है. इच्छुक किसान योजना के तहत आवेदन करके सोलर पंप पर मिलने वाले अनुदान का लाभ उठा सकते हैं और सस्ती कीमत पर अपने खेत में सोलर पंप लगवा सकते हैं.

PM कुसुम योजना का लाभ कैसे उठाएं (How do I get PM Kusum Yojana)

कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया बेहद आसान है.

किसान कुसुम योजना के लिए नीचे दिए गए निर्देशों के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं:

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत देश के किसानों को फसल सुरक्षा के लिए बीमा सहायता दी जाती है.…

कुसुम योजना की शुरुआत कब हुई थी (When was the Kusum scheme started?)

किसानों की आय को सतत रूप से बढ़ाने के लिए सरकार कुछ ना कुछ कदम बढ़ाते रहती है. ऐसे में किसानों के आय को दोगुना करने और कृषि क्षेत्र को सिंचाई का स्रोत प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सुरक्षा अभियान (Prime Minister Kisan Suraksha Abhiyan) उत्थान महाभियान (कुसुम) योजना शुरू की गई थी. PM-कुसुम योजना की शुरुआत मार्च 2019 में की गई है. यह योजना नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRI) द्वारा पूरे देश में सौर पंप और अन्य नए ऊर्जा संयंत्रों की स्थापना के लिए शुरू की गई थी.

कुसुम योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है (What is the objective of PM Kusum Scheme)

पीएम कुसुम योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को बिजली पैदा करने के लिए उन्नत तकनीक की सुविधा प्रदान करना है. कुसुम योजना के दोहरे लाभ हैं, क्योंकि यह किसानों को सिंचाई में सहायता करता है और किसानों को सुरक्षित ऊर्जा उत्पन्न करने की भी अनुमति देगा. चूंकि इन पंप सेटों में एक ऊर्जा पावर ग्रिड शामिल है, इसलिए किसान अतिरिक्त बिजली सीधे सरकार को बेच सकते हैं, जिससे उनकी आय में भी वृद्धि होने की पूरी संभावना बनी रहती है.

Show Full Article
Next Story
Share it