IAS Story: ये खूबसूरत IAS कभी बुलेट पर घूमते कभी पिस्टल चलाते तो कभी पहाड़ों में घूमती आयी नजर , देखिये फोटोज

IAS Story: This beautiful IAS was sometimes seen roaming on a bullet, sometimes driving a pistol and sometimes roaming in the mountains, see photos

IAS officer Namrata Jain: सिविल सेवा परीक्षा (यूपीएससी) देश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षाओं में से एक है। कुछ उम्मीदवार पहले प्रयास में सफल हो जाते हैं, तो कुछ कई प्रयासों के बाद सफलता का स्वाद चखते हैं। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में पली-बढ़ी नम्रता जैन का सपना था- सिविल सर्विसेज में जाना।

नम्रता, जो दंतेवाड़ा जिले के गीदम के अशांत शहर में रहती थी, ने दुर्ग से हाई स्कूल और भलाई से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की, और अपने पहले प्रयास में यूपीएससी 2016 में AIR 99 अर्जित किया। उसके बाद वह जेल सेवा की अधिकारी बनीं।

वह एक IAS अधिकारी बनना चाहती थीं, इसलिए वह UPSC परीक्षाओं के लिए फिर से उपस्थित हुई और AIR 12, CSE 2018 में सुरक्षित हुई.

वह एक आईएएस अधिकारी बनना चाहती थी, इसलिए उसने फिर से यूपीएससी परीक्षा में भाग लिया और एयर 12, सीएसई 2018 प्राप्त किया।

गीदम सुरेश जैन के चाचा के मुताबिक, वह पढ़ाई के दौरान और कॉलेज में भी खूब पढ़ती थी। हमें पता था कि वह एक दिन सिविल सेवा परीक्षा से बाहर आएगी। नम्रता ने पढ़ाई के लिए अपने गृहनगर से लगभग 350-400 किलोमीटर दूर गीदम से दुर्ग और पिल्लई की यात्रा की। उन्होंने अपनी शिक्षा पूरी करने के लिए बहुत प्रयास किए, लेकिन उन्होंने अपनी पढ़ाई और एकाग्रता में रुचि नहीं खोई। यह सब उनकी मेहनत का नतीजा है।

निम्रता का मानना ​​है कि अगर उम्मीदवार आर्थिक रूप से सुरक्षित है तो उसे नौकरी के बजाय सिर्फ तैयारी पर ध्यान देना चाहिए। उनके अनुसार पूर्ण समर्पण से इस परीक्षा में सफलता प्राप्त होती है। हालांकि उनका यह भी मानना ​​है कि अगर कोई व्यक्ति अच्छी आर्थिक स्थिति में नहीं है तो नौकरी के साथ-साथ यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करके भी सफलता प्राप्त की जा सकती है।

नम्रता का मानना ​​है कि यूपीएससी को तोड़ने के लिए आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ना होगा। उनके अनुसार अगर कोई लगातार सही दिशा में काम करता है तो कुछ ही सालों में उसे सफलता जरूर मिलेगी। नम्रता का कहना है कि अगर कोई पहली बार में यूपीएससी की परीक्षा में फेल हो जाता है, तो निराश होने की बजाय गलतियों को सुधारें और भविष्य में बेहतर करें।

Show Full Article
Next Story
Share it