अगले 15 दिन बुध का गोचर वृश्चिक और मीन को कराया अचानक धनलाभ, जानें आपकी जिदंगी में क्या होगा बदलाव

Next 15 days will change in your life : बुध भले ही सबसे छोटे ग्रह हों लेकिन इनको ही सबसे प्रभावशाली ही माना जाता है. बुध के कर्क राशि में गोचर करने से इसका प्रभाव सभी राशियों और देश-दुनिया पर पड़ रहा है.


Next 15 days will change in your life : बुध ग्रह मिथुन राशि से निकलकर कर्क राशि में गोचर कर चुके हैं. जहां बुध और सूर्य अब साथ हैं. इस तरह एक राशि में दो ग्रहों का संयोग बन चुका है. वैदिक ज्योतिष बताती है कि बुध, ग्रहों के राजकुमार हैं और मिथुन और कन्या राशि के स्वामी भी हैं.कन्या राशि में बुध उच्च भाव में रहते हैं और मीन राशि में नीच भाव में. साथ ही बुध को माल और व्यापारियों का रक्षक भी माना जाता है. बुध भले ही सबसे छोटे ग्रह हों लेकिन इनको ही सबसे प्रभावशाली ही माना जाता है. बुध के कर्क राशि में गोचर करने से इसका प्रभाव सभी राशियों और देश-दुनिया पर पड़ रहा है.

मेष राशि
नौकरी पेशा जातक अन्य रोजगार की तलाश कर सकते हैं, जिससे उनके अच्छे अवसर मिलेंगे.
वहीं जो लोग खुद का व्यवसाय शुरू करने की योजना बना रहे हैं तो उनको अभी कुछ समय और इंतजार करना चाहिए.
गोचर काल में छात्रों की एकाग्रता में अच्छी वृद्धि होगी और पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित होगा.

वृषभ राशि
बुध आपकी राशि से तीसरे भाव में गोचर कर चुके हैं और कुंडली में तीसरा भाव भाई-बहन, इच्छा, यात्रा आदि का होता है.
इस दौरान सेल्स और मार्केटिंग से जुड़े जातकों को सकारात्मक परिणाम पूर होंगे और समय से पहले अपने टारगेट को पूरा कर चुके हैं.
जो लोग सरकारी सेवाओं में कार्यरत हैं, उनके करियर के लिए बेहद लाभकारी गोचर काल होगा.
भाई-बहनों के साथ अच्छे संबंध होंगे और हर कार्य में माता-पिता का पूरा सपॉर्ट मिलेगा.

मिथुन राशि
बुध आपकी राशि से दूसरे स्थान पर गोचर कर चुके हैं और कुंडली में यह स्थान परिवार और धन का होता है.
इस दौरान व्यवसाय करने वाले जातकों की योजनाएं फलीभूत होंगी और अच्छे व्यापारिक लोगों से जान-पहचान भी बढ़ेगी.
वहीं पारिवारिक बिजनस से जुड़े जातकों का भाग्य साथ देगा और धन कमाने के अवसर प्राप्त होंगे.
इस अवधि में परिवार की ओर आपका अधिक ध्यान रहेगा और ज्यादा से ज्यादा परिजनों के साथ व्यतीत करेंगे.
माता-पिता के साथ आपके संबंध मजबूत होंगे।

कर्क राशि
बुध आपकी राशि के लग्न भाव अर्थात पहले स्थान पर गोचर कर चुके हैं और कुंडली में पहला स्थान मस्तिष्क और व्यक्तित्व आदि का होता है। इस दौरान विदेश में काम करने वाले लोगों को अच्छा धन लाभ होगा। साथ ही विदेश जाने के अवसर भी प्राप्त होंगे। इस अवधि में ज्यादा कामकाज की वजह से थकावट की भी कमी महसूस होगी और अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना प्राथमिकता होगी। जीवनसाथी के साथ अच्छे समय व्यतीत होगा और रिश्ता भी मजबूत होगा.

सिंह राशि
बुध आपकी राशि से बारहवें भाव में गोचर कर चुके हैं और कुंडली में यह भाव व्यय और हानि का होता है.
इस दौरान नौकरी पेशा जातकों को कमाई के अच्छे अवसर प्राप्त होंगे.
साथ ही अनावश्यक खर्चों से परेशान भी हो सकते है.
इस अवधि में अपने साथ-साथ अपने परिवार के स्वास्थ्य का भी पूरा ध्यान रखें.
जो जातक विदेश जाने की इच्छा रखते हैं, उनको सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे.
दोस्तों के साथ कहीं बाहर जाने की योजना भी बना सकते हैं.

कन्या राशि
बुध आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में गोचर कर चुके हैं और कुंडली में यह भाव लाभ और आय आदि का होता है.
इस दौरान व्यवसाय में सफलता पूर्वक विस्तार कर सकेंगे और बाजार में आपकी अलग पहचान भी बनेगी.
नौकरी पेशा जातकों को सहकर्मियों का पूरा सहयोग प्राप्त होगा और उनकी मदद से अच्छा प्रोत्साहन प्राप्त करेंगे.
परिवार वालों को पूरा सहयोग मिलेगा और उनके प्रयासों से सभी कार्य पूरे होंगे.
सामाजिक कार्यों में हिस्सा लेंगे और कुछ नए दोस्त भी बना सकते हैं.

तुला राशि
बुध आपकी राशि से दसवें स्थान पर गोचर कर चुके हैं और कुंडली में दसवां स्थान करियर और प्रोफेशन का होता है.
इस दौरान आप जो भी कार्य करेंगे, उसमें सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे.
साथ ही किसी के कटाक्ष या हंसी-मजाक से आप प्रभावित हो सकते हैं.
अपनी माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें और किसी लंबी यात्रा पर जाने का प्लान भी बन सकता है.
करियर के लिहाज से बुध का गोचर काफी लाभदायक होगा और निवेश के लिए भी समय अनुकूल है.

वृश्चिक राशि
बुध आपकी राशि से नौवें स्थान पर गोचर कर चुके हैं और कुंडली में यह स्थान भाग्य, धर्म आदि का होता है.
इस दौरान नौकरी पेशा जातकों को उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है या फिर अन्य रोजगार में बदलाव की भी संभावना बन सकती है.
गोचर काल के दौरान पैतृक संपत्ति या फिर अन्य स्रोतों से अचानक लाभ होने की संभावना बन रही है.
पिता के साथ गलतफहमियों की वजह से संबंध थोड़े खराब हो सकते हैं.
वहीं विदेश जाकर पढ़ाई की इच्छा रखने वाले छात्रों को अनुकूल परिणाम प्राप्त होंगे.

धनु राशि
बुध आपकी राशि से आठवें स्थान पर गोचर कर चुके हैं और कुंडली में आठवां स्थान घटनाओं, अप्रत्याशित आदि का होता है। इस दौरान आपको काफी संभलकर रहना होगा और वाद-विवाद से दूरी बनाकर रखनी होगी। व्यापारियों के लिए यह समय मिश्रित फलदायी रहेगा। जो लोग अच्छी नौकरी की तलाश कर रहे हैं, उनको संपर्कों के माध्यम से शुभ समाचार मिलेगा। गोचर काल में पति-पत्नियों के बीच कुछ गलतफहमी हो सकती है, जिसकी वजह से संबंध खराब हो सकते हैं।

मकर राशि
बुध आपकी राशि से सातवें स्थान पर गोचर कर चुके हैं और कुंडली में यह स्थान वैवाहिक जीवन, संगठन आदि का होता है.
इस दौरान ससुराल पक्ष से संबंध ज्यादा अच्छे नहीं रखेंगे और प्रियजनों के साथ भी कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.
कारोबारियों को इस दौरान संभलकर कार्य करने की जरूरत है, क्योंकि कर्मचारियों की वजह से कुछ परेशानी हो सकती है, जिसका असर सीधा व्यापार पर पड़ेगा.
जीवनसाथी के स्वास्थ्य को लेकर परेशान हो सकते हैं.

कुंभ राशि
बुध आपकी राशि से छठवें स्थान पर गोचर करने वाले हैं और कुंडली में यह स्थान रोग, विवाद आदि का होता है.
इस दौरान आपके कौशल में सुधार आएगा और आपके काम करने की तारीफ भी होगी.
जो नौकरी की तलाश कर रहे हैं, उनको कुछ अच्छे अवसर प्राप्त हो सकते हैं.
प्रेमी जातकों के लिए गोचर काल ज्यादा अनुकूल नहीं है.
किसी गलतफहमी की वजह से पार्टनर के साथ मतभेद बढ़ सकते हैं.
स्वास्थ्य के लिहाज से भी यह अवधि ज्यादा अनुकूल नहीं है.

मीन राशि
बुध आपकी राशि से पांचवें स्थान पर गोचर करने वाले हैं और कुंडली में पांचवा स्थान शिक्षा, संतान आदि का होता है.
इस दौरान प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को अच्छे अंक प्राप्त होंगे और मेहनत का पूरा फल मिलेगा.
वहीं जो खुद का व्यवसाय कर रहे हैं, उनके लिए धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं.
प्रेमी जातकों के लिए बुध का गोचर अनुकूल रहेगा, पार्टनर के साथ संबंधों में मजबूती आएगी.
माता-पिता के साथ अच्छे संबंध बनेंगे और धन के लेन-देन से बचें.

Show Full Article
Next Story
Share it